Shubhangani Sharma
Shubhangani Sharma 28 Aug, 2020 | 1 min read

कोई आये या ना आये

रूठने से पहले, मनाने वाले का होना भी ज़रूरी है।

Reactions 2
Comments 1
543
Manu jain
Manu jain 26 Aug, 2020 | 0 mins read

ग़ज़ल

बहर - 22 22 22 22

Reactions 3
Comments 0
547
Ragghi
Ragghi 21 Aug, 2020 | 1 min read
Reactions 2
Comments 3
974
Ragghi
Ragghi 15 Aug, 2020 | 0 mins read

मोहोब्बत की मिट्टी हिंदुस्तान

A true Indian always believe in brotherhood and humanity

Reactions 2
Comments 0
635
Sanoj Kumar
Sanoj Kumar 02 Aug, 2020 | 1 min read

दोस्ती

एक दूसरे से मिलते ही, होती है हमारी गालियों से बात।

Reactions 0
Comments 0
878
Manu jain
Manu jain 17 Jul, 2020 | 1 min read

ग़ज़ल

है खैरियत शायद ,या ज़ख्म कोई गहरा है देखो ज़रा,ज़िंदगी को ये तन्हा बताती है।

Reactions 2
Comments 6
650