archana Rai

archanarai

https://paperwiff.com/archanarai

मेरे अंतस में कहीं एक भावनाओं का समंदर बहता है.... देख दुनिया की रिवायतें.. लाख नजरअंदाज कर लूँ... फिर भी पीर का एक ज्वार उभर आता है... जो तोड़ मन के दायरे कलम के सहारे.... शब्दों का जामा पहन कागज पर उतर आता है.. तब मेरे लिए...कहीं.. एक कहानी/कविता/ लघुकथा का जन्म होता है.

archana Rai
archana Rai 15 Sep, 2021 | 1 min read

#Unique love किसी बच्चे की मुस्कान सा निश्छल प्रेम जिसकी कोई परिभाषा नहीं है. केवल महसूस किया जा सकने वाला अद्भुत संसार...

प्रेम,... कहने को तो दो शब्दों का छोटा सा समूह, पर यही दो शब्द अपने अंदर एक विशाल दुनिया है समेटे है.... इसे वही समझ सकता है जिसने कभी प्यार किया हो... न करने वाले तो उसे पागल, दीवाना, आवारा और भी न जाने कितने उपनाम से नवाजते हैं.

Reactions 1
Comments 0
238
archana Rai
archana Rai 21 Jun, 2021 | 1 min read

लघुकथा- वो मरा नहीं

भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के दिलों में दूरियाँ आ गयीं हैं.पर अपनापन कभी खत्म नहीं होता....

##scribble

Reactions 2
Comments 0
259