Hari
Hari 22 Aug, 2019 | 1 min read
ਮੈਟਰੋ ਰੇਲ

ਮੈਟਰੋ ਰੇਲ

Reactions 0
Comments 0
339
Kiran
Kiran 22 Aug, 2019 | 1 min read
Golden temple

Golden temple

Reactions 0
Comments 0
437
Raghav Sen 22 Aug, 2019 | 2 mins read
India Gate

India Gate

Reactions 0
Comments 0
393
Jokerrr
Jokerrr 22 Aug, 2019 | 2 mins read
Reactions 0
Comments 0
400
Raghav Sen 21 Aug, 2019 | 2 mins read
Reactions 0
Comments 0
393
Raghav Sen 21 Aug, 2019 | 2 mins read
Reactions 0
Comments 0
400
Raghav Sen 18 Aug, 2019 | 2 mins read
Reactions 0
Comments 0
369
Kiran
Kiran 18 Aug, 2019 | 1 min read
Reactions 0
Comments 0
349
Aman G Mishra
Aman G Mishra 13 Aug, 2019 | 0 mins read

अनुच्छेद 370

धारा 370 370 के कुछ प्रावधान समाप्त कर दिए गए। बहुतों ने छाती पीटी, अल्पसंख्यक समुदाय की दुहाई दी गई, ऐतिहासिक दस्तावेजों की दुहाई दी गई। कुछ लोगों ने मुझसे कहा कि इस पर लिखो। लिखना क्या है! यह देश कैसे चलेगा? इतिहास के कुछ पन्नों से, कुरान से, मनु स्मृति से या दास कैपिटल से? पहले यह निर्धारित कर लें। इस देश मे मेरिट और डीमेरिट का निर्धारण कब तक जाति और धर्म से होगा? एक संघ के अनेक घटकों को चलाने के लिए केवल एक नीति निर्देश तत्व होना चाहिए, समता। वह समता कश्मीर और अल्पसंख्यकों तक आकर क्यों लुप्त होने लगती है! संविधान की मूल भावना के विपरीत है, किसी को भी विशेष अधिकार देना। 370 उसी समानता की मूल भावना के खिलाफ है, भारत संघ के अंदर प्रत्येक राज्य एक ही नियम से संचालित होने चाहिए। समय है देश के अंदर से ऐसे भेदभाव वाले नियमों को ढूंढ ढूंढ कर खत्म करने के, न कि ऐतिहासिकता और अल्पसंख्यकों के अधिकार के नाम पर भेदभाव के सुरक्षा की। अंत में, इसका श्रेय किसे जाएगा, 370 खत्म करने का! मोदी और शाह को, या भाजपा को! सामान्य लोग इसका श्रेय इन्हें ही देंगे, लेकिन मैं इसका श्रेय दूंगा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को जिसकी संगठन क्षमता और विचारधारा में ऐसे हजारों मोदी पैदा करने की क्षमता है।

Reactions 0
Comments 0
451