डर की आंखें

डर की आंखें

Originally published in hi
Reactions 1
427
night_thinker
night_thinker 08 Aug, 2022 | 1 min read
Eyes of Night Eyes of Fear

घनघोर सन्नाटा फैला हुआ है चारों ओर ऐसे,

 देख रही हो,

देख रही हो,

 डर की आँखे देख रही हो चकोर जैसे |

पता नहीं होंगे रस्ते आगे कैसे,

पल पल,

धीरे धीरे,

दिल में हिम्मत कर चला जा रहा हूँ ऐसे;

डर की आँखे देख रही हो चकोर जैसे |

1 likes

Published By

night_thinker

night_thinker

Comments

Appreciate the author by telling what you feel about the post 💓

  • Author zamsii · 1 year ago last edited 1 year ago

    🌟🌟🌟😱

Please Login or Create a free account to comment.